कष्ट-बाधाओं को दूर करना हो तो पितृ पक्ष में करें ये काम

कष्ट-बाधाओं को दूर करना हो तो पितृ पक्ष में करें ये काम

मनुष्य अपने पूर्वजों का अंश होता है इसलिए कहा जाता है कि किसी ना किसी रूप में हम पितरों के ऋणी हैं. ऋण भी तीन तरह के होते हैं- देव ऋण, ऋषि ऋण, पितृ ऋण….

Read More
जानें पितरों को खुश करने का सबसे अच्छा तरीका

जानें पितरों को खुश करने का सबसे अच्छा तरीका

इस संसार में जन्म लेना वाला व्यक्ति तीन तरह के ऋणों में बंधा हुआ है। एक देव ऋण, दूसरा ऋषि ऋण और तीसरा पितृ ऋण। इन तीनों में पितृ ऋण को सबसे ऊपर माना गया…

Read More